दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Motivational short stories for employees in Hindi के बारे मे हमे यकिन है।motivational stories for employees बहुत पसंद आयेगा |


Short motivational stories with moral for employees in Hindi

यह बात है एक शहर की वहा पे एक लड़का था वो एक मैकेनिक  था लोगो की गाड़ी ठीक करता था। लेकिन वो अपने आपपे घमंड ज्यादा दिखता था। 
एक दिन वहा पे एक दिल का डॉक्टर आया और डॉक्टर ने उस लड़के को कहा मेरी कार ठीक करदो। कार ठीक से चल नही पाती है रुक रुक के कार चलती है। मैकेनिक ने कहा आपके कार के इंजिन मे प्रोब्लॉम है। 


मैकेनिक ने कहा आप और मे एक जैसे ही है। डॉक्टर तुरंत पूछा ये कैसे? तब मैकेनिक ने कहा आप दिल के डॉक्टर हो और मे कार के इंजिन का डॉक्टर हु। कार का इंजिन कार का दिल होता है। हमारा काम एक जैसा है। आप दिल को ठीक करते है और मे कार का इंजिन ठीक करता हु। लेकिन क्यु आपको ज्यादा पैसा मिलता है और मुझे कम मिकता है।  
तब डॉक्टर ने मुश्कुराते हुवे कहा कभी चलते हुवे इंजिन पे काम किया है। यह बात सुनके मैकेनिक समाज गया। डॉक्टर की कार का इंजिन मे काम करने लगा। 

Moral:- कभी भी अपने काम मे हमे घंमंद नही दिखाना चाहिये । उस काम को पूरे ईमानदारी से काम करना चाहिये। 

Motivational Stories For Employees In Hindi


एक बड़ी सी कंपनी है उस मे कही सारे कर्मचारी काम कर रहे है। लेकिन सभी कर्मचारी को एक कर्मचारी से परेशान थे क्यू की वो सभी के प्रमोशन मे दिक्कत बनके बैठा था और उस कर्मचारी से जगड रहे थे। उस बड़ी कंपनी के मालिक ने देखा और कहा मे जो कहता हु वो तुम्हे करना है। 

जब दूसरे दिन सभी कर्मचारी के पास खबर आई की यह कर्मचारी मर गया है। अब सभी कर्मचारी उस के घर सोख मनाने के लिये जाते है। घर के बाहर एक बड़ा सा बॉक्स था। सभी लोग को उसे देखके रोना तो आ राहा था। लेकिन मंन मे सोच भी रहे थे की हमारे प्रमोशन मे सबसे बड़े दिक्कत हात गया। 

अब सब फूल को अर्पित करने के लिये बॉक्स के पास गये और बॉक्स मे देखा तो कोई नही था। केवल सभी को काच के शीशे मे अपना चेहरा दिखाई देता है। सब यह देख के हैरान हो रहे थे। 



उस समय कंपनी का मालिक उस कर्मचारी से साथ आता है। 

 और सभी को कहा देखा सभी ने बॉक्स मे आपको कौन दिखा? 

तब कर्मचारी ने कहा उस मे मेरा चेहरा दिखाई दिया मुझे। तब मालिक ने कहा आपको प्रोमोशन चाहिये तो आपको मेहनत करनी होगी। दूसरे के काम को नही देखना है वो भी अपने प्रमोशन के लिए महेनत करता है। 

आप अपने प्रमोशन को रोक रहे है यह कर्मचारी नही रोक रहा है। वो केवल मेहनत कर रहे है। आप अपना खुद प्रोमोशन रोक रहे है। 

मोरल:-- मेहनत करना अपने हाथ मे है। आपको सफल होना है तो मेहनत कीजिये। 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads