दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Short story based on teamwork in Hindi के बारे मे हमे यकिन है inspirational hindi story on team work आपको बहुत पसंद आयेगा story teamwork

 

Short-story-based-on-teamwork-in-Hindi

Short story based on teamwork in Hindi

बच्चे अपनी स्कूल मे शरारत कर रहे थे । कुच बच्चे दुसरो को परेशन कर रहे थे । स्कूल के काल्स रूम मे दो भाग हो गये थे । अमीर बच्चे अगल रहते थे और आगे बेतेथे और गरीब पीछे की बेन्च पे बेतेथे ।

इस बात की टीचर को पता चल गया सबी बच्चे आपस मे भेदभाव कर रहे है । एक दीन टीचर सबी बच्चो को स्कूल के मेडन मे बुलाया और कहा सभी को ये पत्थर सामने के तरफ रखके आना है । जो पहले और ज्यादा काम करेगा उसे मेरी तरफ से एक गीफ्ट मिलेगा ।

सबी बच्चे पत्थर को उथाके दुसरी और रखने के लीये जाते है देखते ही देखते कुच समय के बाद सारे पत्थर उथाके दुसरी और रखके आजाते है । सभी बच्चे टीचर के सामने आके खडे हो जाते है और कहते है देखा मेदम ये काम तो आसान है । टीचर ने सबी बच्चे को कहा मुझे इस काम मे कोई कमी दिखी आपने ज्यादा समय लगाया ।

फिर से वो पत्थर यह पे लाके रखदो और ज्यादा समय नही लगना चाहीये । सबी बच्चे भागने लगे एक दुसरे से कोम्पीटिशन करने लगे । अब की बार पहले से कम समय लगा और सभी पत्थर लाके रख दीये ।बच्चे टीचर के पास आके खडे हो गये । टीचर ने कहा मुझे इस बार भी सही नही लगा । फिर से ये पत्थर दुसरी तरफ लाके रख दो । सभी बच्चे टीचर की इस बात से परेशान हो गये थे ।




बच्चे भगने लगे पत्थर उथाने के लीये तब एक गरीब का बच्चा था उसने दिमंग से सोचा और सभी को कहा आप सभी लोग एक लाईन मे खडे हो जाव और उस ने पत्थर एक दुसरे को पास करने को कहा । देखते ही देखते कुच ही समय मे सारे पत्थर दुसरी तरफ हो गये थे और कोई बच्चा थका नही और समय का सही इस्तेमाल होवु ।

अब की बार टीचर बहुत खुश हुवा और सभी बच्चे के लीये टाली बजाई और टीचर ने सभी बच्चो को कहा देखा इस बार आपने एक टीम बनाके काम कीया इस लीये कम समय लगा और आप सभी लोग थके नही । पहले जो आप काम कर रहे थे वो खुद के लीये काम कर रहे थे इस लीये ज्यादा समय लगता था । टीचर ने सभी बच्चो को पुछा आप सभी ने इस खेल से क्या सिखा ।

तब एक लदके ने कहा मेंने यह सिखा हम सभी बच्चे मिल जुलकर काम करे तो कोई भी मुसीबात आये उसे आसानी से पार कर पाये । दुसरे बच्चे ने कहा कोई ही परेशानी आये उसे हम लोग मिलजुकर सामना कर पाये । तिसरे बच्चे ने कहा हमे एक टीम बनके एक साथ रहना है और एक दुसरे की मदद करते रहना है ।

टीचर ने कहा जी हा सभी को टीम बनने के रहना है और सभी को क्लास रूम मे मिल जुलकर रहना है । कोई अमीर नही है कोई गरीब नही है कोई उच-निच नही है सब लोग एक स्टूडेंट है जो एक स्कूल मे पठाई लिखाई करने के लीये आते है । अब से सबी बच्चे मिल जुलकर रहेगे । सभी बच्चे ने टीचर को व्यादा कीया हम अब से मिलजुल कर रहेगे ।

मोरल :- मिलजुलकर रहने से कोई भी दिकक्त-परेशानी आती है वो आसानी से सोल कीया जात है ।

 

short story on importance of teamwork

 

एक छोटा सा गांव था एक चरवाहे के पास 3न बकरी थी वो 3नो अकसर आपस मे लडते रहेते थे । एक दीन चरवाहे ने 3नो बकरी को एक पेड से रस्सी से बांध दीया था और बकरी को खाने के लीये तिनो अलग अलग जगह पे चारा डाला ।

3नो बकरी चारो को खाने के लीये कोशिश कर रही थी लेकीन एकही रस्सी से 3नो बकरी को बंध दीया था इस लीये 3नो चारे के पास पोहुच नही पाती थी । 3नो बकरीने चारे को खाने के लीये काफी कोशिश कीया लेकीन वो चारे को खा नही पाये ।  

एक बकरी ने सोचा क्यु ना हम 3नो मिलके पहले एक जगह का चारा खाते है और उस के बाद दुसरे का । 3नो बकरी ने पहले का चारा खाया और इस प्रकार से दुसरे का खाना खाया । इस प्रकार से तिनो जगह का चारा 3नो ने मिलके खा लीया । वो 3नो बकरी आपस मे खुश होने लगे ।

3नो बकरी के पास चरवाहा आता है और कहता है देखाने तुम्ह 3नो साथ मे मिलजुलकर रहते है तो कुच भी कर सकते है । तुम्ह 3नो ने एक टीम बनाई और जो परेशानी थी वो मिलके सोल कीया है । इसी तरहा से अब से तुम्ह 3नो को रहना है आपस मे लडना नही है ।

मोरल :- मिलके रहने से कोई बी परेशानी को आसानी से सोल कर सकते है ।

 


short motivational story on teamwork


एक पेड था उस पेड पे काफी सारे आम लगे हुवे थे । उसका मालीक उस पेड से आम निकाल ने के लीये आकेला ही जाता है । साम हो गई थी लेकीन वो आम को टोड नही पाया । घर जाके वो अपनी पत्नी को कहता है पेड पे बहुत सारे आम है लेकीन मे आकेला सारे आम टोड नही पाया । मालीक बहुत चिंत्ती होने लगा मे कब आम टोड के बेचने के लीये जावुगा । तब मालीक के बेटे ने कहा पापा मे कल आपके साथ आम टोड ने के लीये आवुगा ।

दुसरे दीन मालीक के साथ उस का बेटा आया । वो दोनो ने पेड से कुच आम निकाले लेकीन साम हो गई थी । मालीक परेशान हो रहा था हम ये आम कब तक टोड पायेगे । अब हमे घर जाना पडेगा बहुत समय हो चुका है । घर जाके मालीक अपनी पत्नी को कहता है आज भी कुच आम टोड पाये है आम कब टोडेगे और कब उसे बेचने के लीये जावुगा । मालीक से पत्नी कहती है कल मे भी आपके साथ आम टोड ने के लीये आपके साथ आवुगी ।  

अब की बार मालीक के साथ बेटा और पत्नी आयी 3नो ने मिल के आम को कुच ही समय मे सारे आम टोड दीये और 3नो मिलके बजार जाके सारे आम बेचने लगे । साम होते ही सारे आम बेच दीये और मालीक को काफी मुनाफा हुवा ।

मोरल :- जो काम अकेले मिलके नही होता है जो मिलजुल कर करने से हो जाता है ।    


best short story on teamwork

दोस्तो मुजे यकिन है कि inspirational story about teamwork आपको पसंद आयि होगि । यह short stories teamwork आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बताये और आपको कहनिया short story on teamwork for students लिखने का पसंद हो तो very short story on teamwork या real Inspirational Story Team work ईमैल कर सकते हो और आपको ये स्टोरिस पसंद आयी होतो आप अपने दोस्तो के साथ शरे कीजीये motivational inspirational story team work

 

2 Comments

  1. nice blog sir
    apne bahut hi acha blog bnaya hai hum bhi apke jaise bnna chahe ge sir

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thik hai ap banaye hamari Koi help चाहिये तो hame bataye

      Delete

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads