दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Short story on grandmother in Hindi के बारे मे हमे यकिन है short story my grandmother बहुत पसंद आयेगा inspirational story of grandmother


grandmother story


story about grandmother and granddaughter

 

हेमू कर के एक लडकी थी वो अपने मां और पापा के साथ नानी मां के घर रहती थी । हेमू अपनी दादाजी मां की लडली थी । अकसर दादी मां हेमू को कहानी सूनाया करती थी और हेमू को स्कूल जाने के लीये तैयार करती थी । जब हेमू स्कूल से घर आती है तब दादी मां हेमू को पूछती है बेटा आज स्कूल मे क्या कीया तुमने । तब हेमू ने कहा आज मेंने नयी कवीता सिखा है और आपने जो मुझे मेगी बनाके दीया था मेंने अकेली ही खा लीया ।

दादी मां ने कहा बेटा ये तुम्हे ने अच्छा नही कीया कीसी को खाना खिलाना अच्छा बात होती है । तब हेमू दादी मां को कहती है मुझे आपके बनाय हुवी मेंगी बहुत अच्छी लगती है । इस लीये मे कीसी को नही देती हु । दादी ने कहा बेटा तुम्हे मेंगी अच्छी लगती है तो और मे तुम्हे घर मे बनाके दे देती । हेमू ने कहा हा दादी मां लेकीन मे आपकी बनाई हुवी मेंगी किसी और को नही देना चाहती हु । दादी मां ने कहा थीक है अब तुम्हे अपने कपडे बदल के फ्रेस हो जाना चाहीये ।




दादी मां ने कहा हेमू को मे कुच दीन गांव जाने वाली हु वहा पे मंदीर की पूजा होने वाली है इस लीये हेमू ने कहा मे भी दादी मां आपके साथ आवुगी । दादी मां ने कहा बेटा आपकी तो परिक्षा हैं । हेमू ने कहा हा मेरी परिक्षा है । दादी मां ने कहा बेटा कुच दीन की तो बात है । मे जल्द से आ जावुगी ।

जब हेमू स्कूल से घर आती है तो दादी मां को धुधने लगती है लेकीन दादी मां नही दीखाई देती है , हेमू ने मां से पूछा दादी मां कहा है । तब मां ने कहा बेटा कल तो दादी मां ने तुम्हे बताया है की गांव मे मंदीर की पूजा होने वाली है इस लिये गांव जाने वाली हु । दादी मां दो दीन के बाद आ जायेगी । बेटा मुझे ये बतावो आपने स्कूल मे आज क्या क्या कीया है । हेमू ने मां को आज स्कूल मे क्या कीया उस के बारे मे बताया ।

दुसरे दीन हेमू स्कूल से घर आती है लेकीन दादी मां नही दीखाई देती है । हेमू उदास होके अपने कमरे मे चली जाती है । दादी मां घर पे ना होने के कारण हेमू बहुत परेशान हो जाती है उसे किसी और मे मंन नही लगता है । हेमू मां को फिर से पूछती है दादी मां कब आयेगी । मां ने कहा में ने तुम्हे कल तो बताया था मंदीर कि पूजा हो जाने के बाद दादी मां आ जायेगी ।

हेमू अपने कमरे मे होमवोर्क कर रही थी तब दादी मां की आवाज सुनाई देती है । हेमू होमवोर्क को छोड कर दादी मां की तरफ जाने लगती है । हेमू ने देखा की येतो दादी मां है हेमू ने दादी मां से पूछा आप क्यु जल्द से नही आये । हेमू की मां ने दादी को कहा तुम्हारी लडकी बेटी आपके आज आने के कारण आज स्कूल नही गई । कब से आपका इतेजार कर रही है । दादी मां ने हेमू को कहा बेटा ये गलत है स्कूल तुम्हे जाना चाहीये । हेमू ने दादी मां से माफी मांगी और कहा अब मे हर दीन स्कूल मे जाया करुगी । लेकीन आप मुझे कभी भी नही छोड के जावोगे मे आपके बीना अकेली रह जाती हु ।

दादी मां ने हेमू को कहा मे अब से कही नही जावुगी और तुम्हारे साथ ही रहुगी । 


 a story told by your grandmother short story


अकसर दादी मां अकेली गांव मे रहती है । उनके 2 बेटे थे लेकीन वो लोग शहेर मे रहने के लीये चले गये थे । दादी अकसर अपने बेटे को गांव मे बोलाया करती थी लेकीन दोनो बेटे कुच ना कुच काम का बहाना बाता देते थे । लेकीन दादी मां ने भी थान लीया की अब तो मे मेरे नातीन को बुला के ही रहुगी ।

दादी मां ने दोनो बेटे को कहा मेरे नातीन को गांव भेजो मे मंदीर की पुजा करने वाली हु इस लीये मेरे नातीन को आना पडेगा । उन्के स्वाथ्य के लीये पुजा होने वाली है । दोनो बेटे को दादी मां की बात सही लगी इस लीये अपने बेटे को गांव भेज दीया ।




दोनो लडके अपनी दादी मां को मिले और बहुत सारी बात कीया । जब साम होने को आई और दादी मां दोनो नातीन को अपने खेत दिखाने के लीये ले गई । दोनो नातीन ने अपनी दादी मां से पूछा ये खेत क्यु बंजार है यहा फसल नही लगती है । दादी मां ने कहा फसल लगती है ना लेकीन मेरे 2 नालाइक बेटे तो शहेर मे बस गये है ये खेत कोन जोते गा कोन फसल लगाये गा । मेरी तो अब उम्र हो गई है मुझ मे इतनी ताकात नही है जो मे खेती कर सकु ।

दोनो नातीन ने दादी मां से कहा हम दोनो ये खेती करती है । दादी मां मुस्कूराते हुवे दोनो की तरफ देखती है । और कहती है जैसे खेती करनी चाहीये वो तो शहेर मे है और जैसे पठाई लिखाई चाहीये वो खेती करेगा । दादी मां दोनो को अब घर ले गई । दादी मां ने अच्छे अच्छे पकवान बना के दोनो को खिलाया ।

दोनो लडके सुबह उथके खेती करने के लीये चले गये । दोनो ने पहले तो टेक्ट्रर से पूरा खेत जोत दीया । उस मे बिज बोये पानी को सीचा दादी मां दोनो लडके के लीये खाना खेत मे ले आती है । दोनो लडके खेतमे एक पेड की छाव मे बेथ के खाना खाने लगे ।

दोनो लडके कुच महिने उस खेत मे बहुत अच्छी तरहा से मेहनत करते है । कुच ही समय मे पुरा खेत हरा भरा सा हो गया । जब फस लेनी की बारी आयी । दादी मां ने दोनो लडके को कहा आज तक इस गांव मे इतना सारा फसल नही लगा है । तुम्ह दोनो ने ये कैसे कीया है ।

दोनो लडके ने कहा की हम दोनो ने खेती वाडी की पठाई कर रहे है इस लीये हमे बिना केमीकल का खातर उपयोग करके ये फसल लगायाई है । दोनो लडके ने पूरे गांव को बिना केमीकल के किस तरहा से खेती कीया जाये ये सिखा दीया । देखते ही देखते साभी गांव वाले बिना केमीकल की खेती करने लगे । दादी मां को दोनो लडके की मेहनत देखते हुवे बहुत खुश हुवी ।

दोनो लडके दादी मां को कहा की हम दोनो फिर से छुट्टी होने पर आपको मिलने के लीये आया करेगे ।  


दोस्तो मुजे यकिन है कि short story about grandmother आप को पसंद आयि होगि । यह grandmother's tale read online आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये और आपको कहनिया 101 stories of grandmother लिखने का पसंद हो तो grandma's bag of stories full story या grandma bag of stories read online ईमैल कर सकते हो | the story of grandmother year

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads