दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Inspirational stories about death के बारे मे हमे यकिन है inspirational short stories about death बहुत पसंद आयेगा touching stories about death

Inspirational stories about death
Death Stories


Inspirational stories about death

एक शेठ था वो बहुत लालची था । वो कही लोगो को परेशान करता था । उसने कही बुरी तरहा से पैसे कमाये थे । लेकीन वो चैन से नही रह पता है वो डर ब डर भतकता रहता है । शेठ की येसी हालत हो गई थी की वो चैन से जी नही सकता है और चैन से मर नही सकता है।  

शेठ चैन से मर ने के लीये मंदीर मे जाता है । भगवान से वीनतीं करता है । कही लोगो से मोत के लीये सलाह लेने के लीये गया लेकीन कुच लोगो ने उस को पागल कहा । शेठ को अब अंदर से लगता है मे अब मर रहा हु । उस का शरीर थकावत से जुम रहा होता है । शेठ ने लालच से कमाये पैसे अब शेठ को जीवन जिने मे काम नही आने वाले थे ।

शेठ कही लोगो से सलाह लेने के लीये गया किसी ने सलाह नही दीया बलकी शेठ को भला बुरा कह दीया । लेकीन शेठ को एक दीन एक बाबा मिलता है शेठ ने बाबा से पुछा बाबा मे मरना चाहता हु मुझे एक अच्छी मोत चाहीये । बाबा ने शेठ को कहा तुम्ह क्यु मरना चाहते हो । आज तक मुझे जितने लोग मिले है वो सब लब्बी जीवन कैसे जीये येसी सलाह मांग्ते है । आज पहली बार किसी ने मेरे पास मर ने सलाह मांगी है । तुम्हे क्या हुवा है मुझे बतावो सायद मे तुम्हारी मदद कर पावु। 

शेठ ने बाबा को कहा मेरे पास बहुत सारी संपत्ती और धन है मेरी आभी तक शादी नही हुवा है मुझे सभाल ने के लीये कोइ नही है मेरी शेहद अब थीक नही रहती है । मे अंदर से बिमार हु मेंने काफी डोकटोर को इस बीमारी की वजाह पूछा लेकीन डोक्टॉर भी मेरी मदद नही कर पाये । मे इस बिमारी से अंदरो अंदरो मर रहा हु इस लीये मुझे चैन से मर ना है ।



बाबा ने शेठ की पुरी बात सुंन्ने के बाद । बाबा ने शेठ को कहा तुम्हारी सारी संपत्ती और धन अंनाथो के लीये दान कर दो और तुम्ह खुद अंन्नाथ बन जाव और एक अंन्नाथ आश्रम मे रहने के लीये चले जाव । शेठ ने बाबा की बात को पालान कीया और खुद अंन्नाथ आश्रम मे चला गया । शेठ वहापे जाके शभी के साथ मिल जुल गया |

शेठ के कही दोस्त बने और सभी के साथ मिल जुल कर वो खाना खाता है । सभी के साथ बेथ के सुख दुंख की बात करता है । तब सभी की बात सुंन्नके शेठ को जिने का मंन होता है । लेकीन शेठ का मुत्यू नज्दीक ही था शेठ खुद देख रहा होता है अब शेठ मुत्यू से भाग रहा होता है । शेठ जितना मुत्यू से पीछा छुडाने की कोशीश करता है इतना मुत्यू नजदीक आता है ।

शेठ जीवन जीने के लीये बहुत कोशिश कीया । शेठ की यही कोशिश शेठ को 10 वर्ष जीवन बिताते गई । आखीर शेठ को पताभी नही चला और मुत्यू हो गई । शेठ को नींद मे ही मुत्यू आ गई । मुत्यू हो जाने के बाद शेठ बहुत खुस था वो सोचता था की उसे नर्क मे ले जायेगा । लेकीन येसा कुच नही था वहा भी एक दूनीया थी । प्रुथ्वी लोग की तरहा वहा पे एक दूनीया थी शेठ ने सोच लीया मेंने प्रुथ्वी पर जो गलती कीया है वो मे नर्क मे नही करुगा ।

शेठ अपनी पूरी निष्ठा के साथ मेहन्त करता है । जो उसे प्रुथ्वी लोग मे नही मिला था वो शेठ को नर्क मे मिल गया । शेठ अब बहुत खुस हुवा और बाबा को याद करने लगा बाबा की सही राह आज मोत हो जाने पर भी मुझे खुशी मिली है । 

Story about fear of death

एक शेठ था वो अकसर बेचेन रहा करता था । उस के परिवार मे एक के बाद एक की किसी ना किसी बिमारी की वजह से मोत होती चलि गई । अब शेठ बचा था शेठ मरने से बहुत डरता था वो जिंदा रेहना चाहता था । शेठ कही डोक्टॉर के पास गया कही तांत्रिक के पास गया लेकीन शेठ को जीवीत रहने का कोई उपाय नही मिला ।

शेठ एक दीन सोने के लीये तैयारी कर रहा था । तब दरवाजे के पास एक बाबा आये बाबा ने शेठ को कहा मुझे यही एक रात गुजार ने दो मे बहुत दुरसे आया हु । शेठ ने कहा बाबा आप यही बिथो मे आपके लीये खाने का प्राबंध करता हु । शेठ ने बाबा के साम्ने स्वादिस खाना लाके रख दीया । बाबा ने स्वादिस खाना खाने के बाद वही पे सो गया ।  

दुसरे दीन बाबा तैयार होके निकल ने वाले थे तब बाबा ने शेठ को पुछा आपको जो चाहीये ये मांग्लो । शेठ ने कहा मुझे जो चाहीये वो आप दे सकते है । बाबा ने कहा मेरी वर्षो की तप्सीया है । शेठ ने कहा आप मुझे आजीवन जिने का वर्दान दे दो । बाबा ने कहा मे येसा वर्दान नही दे सकता हु । दुसरा कोई मांग्लो वर्दान । शेठ ने सोच समज के कहा मेरे अलावा जो कोई इस घर मे आयेगा वो मेरी मार्जी के बगेर कभी नही घर के बहार जा पायेगा। बाबा को इस वर्दान मे कोइ गलत बात नही लगी इस लीये बाबाने शेठ को वर्दान दे दीया ।

शेठ ने काही साल बहुत आसानी से गुजार दीये । लेकीन एक दीन येसा आया की शेठ को यमराज लेने के लीये घर आता है । शेठ घर के बाहार बेथ के चने खा रहा था । यमराजने शेठ को कहा चलो मेरे साथ अब चने उपर जाके खाना । शेठ ने कहा यमराजजी मेरे घर मे पहले आये । मेंने अच्छे अच्छे पकवान बनाये है । यमराज ने मना कर दीया । लेकीन शेठ के बहुत कहने पर यमराज घर मे आ गये ।




अब यमराज घर के बाहर निकल ने वाले होते है लेकीन घर के बाहर निकल नही पाते है ।शेठ ने कहा मुझे काफी वर्षो पहले एक बाबा ने वर्दान दीया था । यमराज ने बहुत कहा की मुझे जाने दो मे बाहर नही गया तो सारी दुनीया से कोन लोगो को ले जायेगा । शेठ ने कहा ये तो अच्छा है ना की सभी लोग जीवीत रहे । शेठ यमराज को घर मे बंध करके अपने खेत मे चला गया ।

शेठ खेतमे बेथा हुवा था तब एक जंगली कुत्ता अपनी भेंस को काट रहा था । शेठ कुत्ते को लाठी से बहुत मारता है । लेकीन कुत्ता गिरके भी खडा हो जाता है । शेठ की लाठी तुट जाती है शेठ वहा से बहुत भागता है । लेकीन शेठ को रास्ते कही सारे जांनवर दिखाय देते है लोग भाग रहे होते है ।

शेठ तुरंत अपने घर मे जाता है । यमराज शेठ को डरा हुवा देखता है और तुरंत शेठ को पूछता है । क्या हुवा शेठ ? शेठ ने कहा बाहर जंगली जांनवर दिखाइ दे रहे है । यमराज ने कहा येसा ही होता है मुझे तुम्ने यही बंध करके रखा है । मे लोगो को उपर नही ले जाता हु तो इस संन्सार की पुरी अर्थवेवस्था बिखर जाती है । इस लीये जो जीवीत है उसे एक ना एक दीन मरना ही है ।

शेठ को अब पता चला की जीवन मे जो लोग आये है इसे एक ना एक दीन किसी ना किसी रुप से मरना पडता है । शेठ ने यमराज को कहा मुझे आप ले चलो मुझे पता चल गया है की एक ना एक दीन सभी को मरना पडता है । शेठ यमराज के साथ खुशी खुशी गया ।

 

मोरल : जीवन मे एक दीन सभी को मरना पडता है चाहे वो किसी बिमारी की वजह से या किसी अक्र्स्मात मे ।

 

दोस्तो मुजे यकिन है कि comforting stories about death आप को पसंद आयि होगि । यह short stories about death with a twist आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये और आपको कहनिया death short story ideas लिखने का पसंद हो तो best stories on death या moral story on death ईमैल कर सकते हो | motivational stories about life


 

stories of loved ones dying

inspirational stories for funerals

inspirational stories about life

story about motivation

motivational stories about success

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads