short motivational story in hindi for success

दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है best motivational story in hindi for success के बारे मे हमे यकिन है | success story in hindi for student बहुत पसंद आयेगा | success story in hindi 

success


motivational story for students in hindi

एक बार की बात थी सामु को डांस करने का बहुत सोख था । अपनी स्कूल मे कोई स्पर्धा हो या गांव मे सभा हो तब सामु को डांस से साथ शुरुआत होती थी । धीरे धिरे करके सामु डांस करने मे माहीर बन जाता है । उसे गांव मे कही भी कोई शादी हो या कोई प्रोग्राम हो उसे जरुर बुलाते थे ।

उस की स्कूल की पठाई लिखाई भी अच्छी चल रही होती है । जब वो अपनी कोलेज की पठाई करने शहेर जाता है । उस का मंन पठाइय मे बिल कुल नही लगता है । उसे डांस करना था लेकीन कोलेज मे वो डांस नही कर पाता है अकसर सामु उदास रहने लगा । उदासी के कारण उसकी पठाई पे असर हुवा ।

एक दीन कोलेज के लीये बेस्ट डांसर को चुन्ना था तब सामु का नाम पहेले आया । अलग अलग कोलेज के सभी डांसर आये हुवे थे । सामु ने प्र्तीयोगिता मे सांदार प्रदसन कीया और पहेले नंबर से विजय हुवा । कोलेज की पठाई खातम हो गई उस के कही दोस्त अलग अलग कंपनी मे जोब के लीये गये । 

लेकीन सामु को जोब नही करनी थी उसे डांस कर ना था । वो कही जगह पे डांस के लीये जोब धुंध ने जाता है लेकीन उसे जोब कोइ नही देता है । एक दीन वो किसि की शादी की बारत देखता हे वहा जागे जम्के डांस करता हे सबी लोग उसे ही देख रहे होते है । उसे आखीर मे एक बुजुर्ग आदमी मिलता है । उसने कहा की तुम बहुत अच्छा डांस करते हो । मे एक शॉर्ट फिल्म बना रहा हु जिस मे एक डांस का प्रोमो सॉन्ग है तुम्ह मेरे आर्तिस लोग क़ो कुच डांस के स्टेप सिखा दो तो अच्छा है । सामु ने मुस्कूराते हुवे कहा जी हा मे डांस के स्टेप सीखा दूंगा |





दुसरे दीन उस बुजुर्ग ने दीय हुवी जगह पे जाता है सामु लेकीन वहा जाके देखता है । सभी लोग बुजुर्ग थे कोई भी यंग नही था । तब सामु सोच मे पड गया मुझे बुजुर्ग को डांस सिखाना है । तब एक बुजुर्ग आया और सामु को कहा इन लोगो को तुम्हे डांस सिखाना है । सामु आब मना भी नही कर सक्ता है उसे कुच पैसे चाहीये थे इस लीये । सामु ने एक दो दिन साभी को डांस सिखाया और फिल्म के लीये प्रोमो सॉन्ग हुवा । जब शॉर्ट फिल्म रिलीज हुवी तो सभी को अच्छी लगी उस फिल्म मे सभी यंग लोगो को बताने वाला उदेश था की सभी मां-बाप को आश्रम मैँ छोड के चले जाते है उन लोगो के लीये था । सभी ने उस फिल्म की तारीफ कीया ।

एक बडे फिल्मकार ने देखा एक यंग लडका सभी को डांस सिखा रहा है । तब उन्होने सामु को कौल कीया और अपने सेट पे बुलाया। सामु खुशी के मारे उछ्लने लगा था । सामु फिल्मकार के सेट पे जाके मिलता है उसे फिल्मकार ने जोब दीया आज से तुम्ह मेरे फिल्म मे सॉन्ग होगे उस मे तुम्ह डांस सिखावो गे । सामु पुरे जोर सोर से मेह्नत करने लगा । उसे कही जगह पे अच्छी फिल्म मे डांस के लीये कोरीयोग्रफी का मोका मिला ।

सामु के जीवन मे रातो रात बदलाव हो गया था । कुच ही समय सामु एक बडा कोरीयोग्रफर बन गया था । आज उसके पास एक बडा सा घर है एक कार है । सामु अपने मां और पापा को गांव से शहेर मे रहने के लीये ले आता है । सामु का जिवान बहुत ही अच्छा हो गया था । सामु जब भी समय मिलता है तो वो बुजुर्ग लोगो को डांस सीखा ने के लीये जाता है ।

सामु को एक दीन येसा विचार आया आज मेरे मां- पापा मेरे साथ है । तो क्यु ना साभी बुजुर्ग लोगो को बेटा- बेटी साथ रहे उसे भी अच्छा लगेगा । तब सामु ने एक डांस का प्रोग्राम आयोजन कीया । सभी बुजुर्ग के घर वाले आये थे । सामु ने सभी बुजुर्ग को आपने जीवन मे बेटा और बेटी के साथ बचपन मे समय बीताया था उसी के स्टेप सिखाये ।

सभी बुजुर्ग ने अपने जिवान के बचपम मे समय गुजरा था उसी का स्टेप का डांस कीया । सबी बुजुर्ग के घर वाले आंखो मे आसु आ गये थे । रोने लगे तब सभी येह्साश हुवा की हम जो कुच कर रहे है वो गलत है । सभी बुजुर्ग को अपने अपने घर जाने का मोका मिला और सभी साथ रहने लगे । आज सभी बुजुर्ग सामु का धन्यावादा करते है ।

सामु को आज डांस का अस्ली मटलाब समज मे आया । डांस से किसी का जिवन बन सकता है । डांस से कही उचाई तक जाया जाता है ।  


 

सफलता motivational story in hindi

 

जीवन मे हामेशा जित होना जरुरी नही है क्भी कभी हार होनी चाहीये तब हमे जित की यहेमीयत पता चलती है । ये कहाँनी हे दो दोस्त की काली और रगु की । काली अमीर घर से था उसके पास सब कुछ था वो वहुत सान से रहता था । रगु एक गरीब परीवार सें था । उस के पास पठाई करने के लीये पैसे नही था उस को कीतब खरीद ने ताक पैसे नही जुता पता था ।

काली जब पठाई कर लेता था तब रगु को पठाई के लिये कीताब देता था । रगु अकसर स्कूल मे लास्ट  आता था और काली अंवल आता था युही तरहा दोनो दोस्त आगे बडते गये । स्कूल की पठाई खातम होने के बाद दोनो दोस्त अलग हुवे काली के पास पैसे थे इस लीये एक बडी कोलेज मे दाखला लीया और रगु एक गवर्मेंट कोलेज पठाई करने के लीये ।

काली अल्सर अंवल आया करता था कोलेज मे जब रगु लास्ट आता हे वहा पे पठने के लीये किसि की   किताब ले लेता था । जब कोलेज की पठाई खतम होने के बाद । काली को आच्छी जगह पे जोब मिल गई । रगु को भी जोब मिल गई कही साल अच्छी तरहा निकल गये ।

काली की सोच कुच नया करने की सोच नही रही थी बस उसे अंवल आना था । इस लीये काली उसी कंपनी मे जोब करता रहा उस का प्रोमोशन भी होता गया वो अच्छी सैलेरी लेने लगा था । रगु को जिवन मे कुच नया करना था इस लीये रगु ने कही जोब को बदल दीया। रगु एक नया प्रोग्राम बनाया था । रगु ने कही कंपनी मे जाके प्रोग्राम को दीखाया सभी ने के ख़ारीद ने का सोचा अच्छी रगु को कीमत दे रहे थे । लेकीन रगु ने कहा आप मुज्से पार्टनर शीप कर लो । एक कंपनी के मालीक ने हाथ मिलाया उस प्रोग्राम का पेटन लगाया उस मे रगु का नाम और कंपनी के मालीक दोनो का नाम था ।




एक दीन उस कंपनी का 10 साल पुरे होने वाले थे तब कंपनी के मालिक ने रगु को भी बुलाया था । रगु उस कंपनी मे आता है और टेबल पे फुलो का गम्ला रखा था उसे ठीक कर रहा था तब उसे काली मिलता है तब दोनो बात चित करने लगते है । काली सोमी को कह ने लगा मेरी आज इस कंपनी मे  70 हजार सैलेरी है । काली उस कंपनी मे सभी दोस्तो से मिलवाने लगा ये मेरा स्कूल का दोस्त है मेरी कीतब लेके पठता था । जेसे तेसे लास्ट नंबर से पास होता है । आज ये मेरी कंपनी मे टेबल के फाल्वार रखने के लीये आया है । सभी काली कि कामीयाबी को मुबारक दे रहे थे ।

करीयाक्रम शुरुआत हुवी तम कंपनी के मालीक ने सबी को कहा शुक्रीया आज सभी कंपनी के 10 साल होने पर एक्थे हुवे है । कंपनी के माकील ने कहा आज सभी को मे बताने वाला हु मे और मेरे पार्टनर के साथ एक प्रोग्राम बनाया है आज तक इस दुनीया मे किसि ने नही बनाया है । उसे मे इस स्टैज पे बुलाना चाहता हु रगु को स्टैज पे बुलाया । सभी ने जोर सोर से ताली मारी काली को बहुत जोर से धाक्का लगा ।

रगु ने स्टैज पे कहा आज मे इस मंच पे आया हु तो केवल मेरे दोस्त के कारण उन्होने मेरी बहुत मदद कीया है । रगु की ये बात सुंके काली की आंखे नम सी हो गई । काली को बहुत बुरा लग्ने लगा था आज मेरा दोस्त मुज्से आगे की पोस्ट पे है मे उस्के अंदर काम करुगा । काली को अच्छा नही लगने लगा था वो वहा से चला गया ।

रगु एक दीन काली से मिलता है तब रगु काली से बात करता है क्यु तुम्ह जोब पे नही आते हो क्या हुवा तब काली ने कहा आज मे हमेशा अंवल आने वाला आज मे लास्ट आने वाले से हार गया हु । आज मुझे हर की यहेमियत पता चली है । इस लीये मे हार को मेह्सुस कर रहा हु । जित से ज्यादा हार मे सुकुन आता है । कुच नया करने का मंन होता है । अकसर जित आसानी से मिल जाती थि तब जित का सुकुन नही मिलता था ।

आज हार ने मुझे बाताया है तुम क्या हो । आज से मे कुच नया कर ने का सोचता हु । जिवन जिना इतना आसान नहिं है जितना मेना समजा था । काली सोमी से दुर हो गया सोमि ने अपना हर एक सपने को पुरा कीया ।

 जब हार आती है तो दरना नही चाहीये बलकी उसी मे छुपी होती है जित । जित को मेह्सुस करना चाहीये क्यु की हार के बाद आती है जित ।  

  

 

motivational story in hindi for success

 

एक छोटे से गांव की एक लडकी उस के पिता पुरे दीन शरब मे धुत रहे थे । मां को हर दीन पिट्टा था  और जो कुच पैसे मां कमाके लाती थी वो छीन लेता था । लडकी 10 साल की हो गई थी वो अपने स्कूल मे खेल कुद मे अकसर अंवल आती थी । एक दीन स्कूल मे बडे पेमाने मे स्पर्धा हुवी उस मे चेस मे अंवल आई । सभी लोग उस लडकी का तेज़ दिमंग से चेस खेलते हुवे देख ते हुवे खुश हो गये।

उस लडकी को एक कोच ने कहा तुम्हे कुच हाशील करना है तो शहेर की स्कूल मे दाखला ले लो वहा पे बडी बडी स्कूल के खेलाडीयो आते है चेस खेल ने के लीये । लडकी ने कहा की मेरे पास इतने पैसे नही है और पिताजी शराब मे पैसे उडा देते है मां जेसे तेसे घर का खर्च निकालति है। इसी कारण मे शहेर नही आ शकती हु । कोच ने कहा स्कूल मे गरीब लोगो को फ्री मे दाखला मीलता है और रहने के लीये होस्टेल, खाना पिना सब कुच मिलता है । तुम्ह आपना टैलेंट वेस्ट कर रही हो । मैरी मानो तो तुम्ह शहेर कि स्कूल मे दाखला करवा लो ।  

लडकी ने पिताजि को कहा की मुझे शहेर की स्कूल मे दाखला लेना है । तब पिताजि ने मना कर दीया तुम्ह वहा जावोगी तो मुझे कोन पैसे देगा । तुम्ह अही रह्के चेस खेलती हो तब कुच पैसे मिलते है उसी से मे शराब पि सकता हु तुम्ह कही नही जावोगी । लेकीन लडकी जीद्द पकडी हुवी थी पिता ने लडकी को जोर से चपेट लगाई । लडकी गिर गई मां वहा पे आई और पिता को कहने लगी तुम्ने तो अपना जिवन शराब पिने मे बिताया है और लडकी जीवन मे कुच करने वाली है अपने सपने क़ो पुरा करने वाली है तुम्ह क्यु उसे रोक रहे हो । पिता को गुस्सा आया मां के उपर लकडी से मां कों मारने लगा । लडकी पिताजी को कहा आप मां को मत मारो मे आही पे रहुगी शहेर नही जाने वाली ।

बहुत रात हो गई थी लडकी एक कोने मे लेट के रो रही थी । उस वक्त मां लडकी के पास आती है और लडकी को कहती है ये लो बेग तुम्हारे कपडे है और चलो मे तुम्हे शहेर छोड के आती हु । पिताजी घर मे सो रहे होते हे । मां लडली को ले के शहेर की और चलने लगती है । दोनो शहेर मे पोहुच तो गये थे लेकीन कहा जाना था वो पता नही था । दो तीन दीन यु ही भतकते रहे । ना खाने के पैसे थे ना कही जाने की ताकात बची थी । दोनो का रो रो के बुरा हाल हो गया था ।






वो दोनो एक मंदीर मे गये वहा पे कुच प्रसाद खाने को मीली । प्रसाद खाने के बाद वाहा पे थोडी देर तक आराम करने का सोचा । उस वक्त लडकी की नजर बुजुर्ग लोग चेस खेल रहे होते है वहा पे पडती है । लडकी चेस खेल रही होती है वहा पे जाती है । चेस की गेम आखरी पडाव पे होती है चेकमेट हो गया था । बुजुर्ग सोच मे पड गया था की क्या करु । उसी वक्त लडकी ने वजीर से उस के हाथी को मार गीराया और उस को चेक मेट दीया । और वो गेम वहा पे जित गई सबी बुजुर्ग लोग ने उस लडकी को साबासी दीया । बुजुर्ग ने कहा की मुझे तो लगता था मे ये गेम जित नही पावुगा लेकीन क्या तुम्ने दिमाग लगा है । हारी हुवी गेम जिता दीया तुम्ने ।

बुजुर्ग ने कहा तुम्ह कहा पे रहती हो आया केसे आयी । तब लडकी ने कहा के मुझे शहेर की स्कूल का दाखला लेना है । बुजुर्ग लोगो को सारी बात बताई तब एक बुजुर्ग ने कहा की मेरा एक बेटा है वो एक स्कूल मे कोच है सभी को चेस खेलना सिखाता है तुम्हारी मे ये बात करता हु ।

बुजुर्ग ने बेटे से बात कीया बेट आके उस लडकी को मिलता है । लडकी मुस्कूराने लगती हे उसे उस वक्त लगता था की मे जित गई हु । कोच उस लडकी को स्कूल मे दाखला दीलवाता है । और मां को एक आश्राम मे कुच काम दीलवा देता है लडकी जि तोर मेहन्त करने लगती है । कोच उस लडकी को कहि जगह पे चेस खेल ने के लिये ले जाता है । लडकी बडे बडे खेलाडीयो को युही हारा देती थी ।

उसे स्टेट लेवल मे खेल ने को मोका मिला वो बहुत खुश थी । आज उसे गोल्द मेडल मिल जाता है तो उसे सरकारी जोब मिल सकती है , उसे कही पे कोच की जोब मिल सकती है उस के पास बहुत विकल्प था बस उसे गोल्द मेडल जितना था । लडकी सब को हाराते हुवे आगे बडती गई ।

आज चेस का फाईनल मेच था उस वक्त मां का फोन आता है मां ने कहा तुम्हारे पिताजी अब इस दुनीया मे नही रहे । लडकी एक कोने मे बेथ के रोने लगी थी बहुत नर्वस थी । कोच उस लडकी को शाहानुभुती देता है । उसे कहता हे आज तुम्ह ये नही करोगी तो तुम्ने आज तक इतने त्याग दीया है सब कुच वेस्ट जायेगा । तुम्हे आज उथना होगा तुम्हारे मां के लीये तुम्हे जितना होगा । लडकी कोच की बाते सुन्के हिम्मत मिलि ।

लडकी ने अपने दीमाग को सांत कीया । लेकिन सामने वाली टीम की एक लडकी चीटींग करके उस लडकी को हारा देती है । उस लडकी ने कोच से कहा की ये लडकी ने चीटींग कीया है । लेकिन किसी ने उस लडकी की बात नही सुनी । लडकी बहुत परेशान हो गई । लडकी वापस गांव मां के पास लोट जाती है ।

दो दीन के बाद लडकी के कोच ने स्टेट लेवल के कोच पे चीटींग का केस कीया । स्टेट लेवल ओफिसर ने मिल के फाईनल का वीडियो देखा तब उस लडकी ने चीटींग करते हुवे पकडी गई और जो कोच थे फाईनल मे उन लोगो को बाहार कर दिया । और उस लडकी के पास गोल्ड मेडल छीन लीया ।

उस लडकी को एक कोच की जोब मिल गई और हारा हुवा गोल्द मेदल मिल गया ।  


दोस्तो मुजे यकिन है कि motivational story in hindi for success आप को पसंदआयि होगि । यह short motivational story in hindi for success आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये और आपको कहनिया motivational for success story in hindi लिखने खा पसंद हो तो hindi motivational story for success या success story in hindi motivation ईमैल कर सकते हो  | real life inspirational stories in hindi


Related Short Stories :----

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स

motivational story in hindi for depression

motivational story in hindi pdf

रियल लाइफ स्टोरी इन हिंदी

प्रेरणादायक हिंदी कहानियां pdf

 



Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads