ads

short stories for children's church

दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है short stories for children's church के बारे मे हमे यकिन है | funny children's story for church बहुत पसंद आयेगा | short stories church

short stories church


एक गरीब परीवार से एक लडकी थी उस के परीवार मे मां थी । मां बीमार होने के काणर कुच समय के बाद मर जाती है । वो लडकी अकेली रह जाती है वो दुसरे के घर घर जाके काम करती थी । जब साम के समय वो लडकी खाना बनाटी है और खान बन जाने के बाद वो घर के बाहार एक चर्च हे वहा पे कुच खाना रहने के लीये जाती है । लोट के आती हैं तब एक रोटी कम नीकलती है । इस तरहा दो तीन दीन हुवा लडकी ने सोचा आज तो मे छुप कर देख्ती हु कोन है जिस ने मेरी रोटी चुरा लेता है ।

वो लडकी खाना बनाने के बाद कही पे छुप जातीं है । थोडी ही देर के बाद एक बिल्ली आई और रोटी को उथाया । तब वो लडकी वहा पे आ गई । और लडकी ने कहा की तुम्हो जो मेरी रोटी रह दीन चुरा लेती है । तो बिल्ली बोली जि हा मॆं ही हू मुजे कही पे खाना ना मिलने के कारण मे रोटी चुरा लेती हु ।




तब लडकी ने कहा की मुझे हर दीन आधा खाना पडता है मे भुखी ही सोजाती हु । कल से तुम्ह मेरि रोटी मत चुराना कही और जाके रॉटी खाना । वो बिल्ली रोने लगी और वहा से चली गई ।

दो तीन दीन वो बिल्ली वहा पे दिखाई नही दी इस लडकी को अब एक रोटी ज्यादा खाने को मिलती है लेकिन उसका पेट अभी भी खाली रहता हे उसे नींद नही आती है । वो दुसरे दीन उस बिल्ली को घुंघ ने की कोशिश करती है लेकिन वह कही मिल नही पाती है । वो बिल्ली हर दीन लडकी के घर आती है लेकिन उस लडकी को दिखाई नही देती है ।

जब वो लडकी रोटी बना के चर्च के पास रोटी रख के आती है तब बिल्ली खिदकी से घर मे रखी रोटी को देख रही होती है ।

वो लडकी उस बील्ली के पास गई और कहने लगी इतने दीन कहा गई थी मेंने तुम्हे कहा कहा धूधा लेकीन तुम्ह मुहे कही पे नही मिलि । बिल्ली कहने लगी की तुम्हारी मां मुझे हर दीन रोटी देती थी इस लीये मुझे हर दीन इस घर मे से ही रोटी खाने की आदत हो चुकी है कही और से रोटी खाने की इछा नही होती है। उस बिल्ली की बात सुन्के लडकी के आँख मे आसु आ गये ।

 तब वो लडकी घर मे जाती है और एक रोटी को बिल्ली को देने के लीये गई । लेकिन बिल्ली ने मना कीया । लडकी कहने लगी लेलो आज मेंने एक रोटी ज्यादा बनाई हे । अब से हर दीन मे एक रोटी ज्यादा बनाया करीस और तुम्हे हर दीन मेरे साथ बेथ के खाना है और तुम्हे किसि के घर मे नही जाना है तुम्ह अही पे रहा करो तुम्हे कोई मना नही करेगा ।




तब बिल्ली ने कहा थीक है लेकिन मे तुम्हे कुच देना चाहती हु तुम्ह हर दीन उस चर्च के पास खाना  रख के आती हो तो तुम्हे सोचा है वहा पे एक बॉक्स है उस मे क्या होगा । तब वो लडकी वो बोक्स खोलती है उस बोक्स मेसे कही सारे मोटी निकलते है । वो लडकी बहुत खुस होती है वो आज से बहुत अमीर हो जाती है और लडकी को कही दुसरे के घर काम करने के लीये जाना नहि पडता है ।

 

लडकी और बिल्ली पक्के दोस्त बन गये और एक नया सा घर बान्ने के दोनो उस घर मे रहने लगे ।   

 

दोस्तो मुजे यकिन है कि short children's stories for church आप को पसंदआयि होगि । यह real life short stories child आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये और आपको कहनिया short stories with biblical morals लिखने खा पसंद हो तो short religious story with moral या short christmas stories for church ईमैल कर सकते हो  | children's bible stories pdf

 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads

Display ads