दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है real life inspiring stories that touched heart के बारे मे हमे यकिन है | आपको short story on river बहुत पसंद आयेगा | river short story

नदी का दुख की लघुकथा


  

नदी का दुख की लघुकथा

मेरे बारे मे हर कोई जानता है मै एक नदी हु मेरे कही सारे नाम है ।शैलजा , दरिया , तनुजा , सरिता और जयमाला है । मुझे शांत और निर्मल कहते है मे हिमालय की गोद से निकलती हु । जब मुझे पौराणीक समय मे सभी लोग कहते है एक स्राप की वजह से नष्ट हो गये भागिरथ थे तब उसमनकी मुक्ती के लीये गंगाजल आवश्यक था । ब्रह्मा जिके कमंड से मुझे धरती पे भगिरथ जिने तपस्या करके शिवजी ने तेज प्रवाह से मुझे केशो मे रखा था । येसे भागिरथी नाम पडा ।

गंगा तब बनती है जब भागिरथि और अलकनंदा का संगम होता है और गंगा के पानी मे कभी बैक्टीरिया नही होता है और पानी मे ओक्सीजन ज्यादा है इस पानी मे मच्छर नही बैठ सकते है जल दुषीत नही है तभी तो गंगा की पूजा करते है ।  



सदानीरा मे गंगा , यमुना , कावेरी जो हमेशा रहती है कही सारी बरसात से बहती है ।बरसाती मे जलधारा का सोत्र झील , झरना और बारीश है

Inspirational Short Stories 

नंदी मे पाहाडो से मैदानो तक कलकल करती बहती हु । मुझे पे बांध बनाकर बिजली बनाई गई ओर नहर से खेत सिचे गये । आज के समय मे मनुष्य आलसी हो गये है । कुडा कचरा पनी मे डाल देते है । मे आब बहुत दुखी हु मेरी सुंदरता खराब कर रहे है । कुच मनुष्य मेरी पूजा तक करते है मे पानी कि कुच बुंद से सबकी सहायता करती हु ।

मनुष्य ने जल को दुषीत कर दीया पानी मे कुडा डालकर नाले का पानी मिलाकर । आव नंदी मे प्राकूतिक आपदा आ गई है ।

आप अपने भविष्य को अच्छा चाहते है तो भविष्य के लीये पानी बचाये बीना पानी से जीवन असम्भव है । आप पेड काटना रोकदो । ग्लोबल वारमिंग से बाठ जेसी स्थिति को रोको । मेरी एक बुंद आपको जिवन देती है आपलोग सब मेरा मेरा करके झगडते रहते है । मे मेरे शितल जल से सबकी प्यास बुझाती हु । कुच मनुष्य बहुत अच्छे है जो नदीयां सुख गयी या सोत्र बंध हो गये हो उसमे नदीयो मे दोबारा पानी लाने के लीये बहुत मेहनत करते है । मे यह सोच के बहुत खुस हु ।



मे बह बह के अंत मे सागर मे मिल जाती हु । जो मुझे स्वच्छ बना रहे है । सुखी नदियो मे फिर से कल-कल करती हुवी पानी मे बहने लगी हु । आप लोग जिवन जिने के लीये मुझे साफ रखे ।

मै शांत और स्वच्छ रहकर सबको जिवन मे पानी देना चाहती हु । मे नही रही तो पानी नही मिलेगा तो बिजली नही ,खेत मे फसल नही । इसी कारण मुझे आप साब स्वस्थ रखो ।

आप साब मुझे वादा करो मुझे दुखी नही होने दोगे । मुझे गंन्दा ना करो कोई करता है तो आप उसे रोको ।    

New post click me : Health is best

                            ; best loan guide    

   

real life inspirational stories in hindi

एक दीन कुच बच्चे नदी के किनारे बेथ के बाते कर रहे थे । बहुत गरमी है और नदी मे पानी नही आता है नदी बहुत खाराबा है जब देखो पानी कम आता रहता है । एक बच्चा बोला हा तुम्ह सही कह रहे हो मेरा पापा कब से नदी मे पानी आने का इतेजार कर रहा हे कब पानी आयेगा और कब खेतो मे पानी सिचेगे । दुसरा बच्चा बोला तुम्ह सही कह रहे हो हमारे कुवे मे पानी कम हो गया है । नदी मे पानी ना आनेके कारण कुवे मे पानी खतम हो गया है । 

हमे इस साल की स्कूल की छुट्टी गरमी मे बितानी पडेगी । सभी बच्चे नदी को भला बुरा कह रहे थे । नदी येसी है नदी बुरी है । तब बच्चो के सामने नदी मेसे नदी माता उपर आयी । बच्चे दरने लगे तब नदी माता ने कहा बच्चो दरो मत । मे पुरे संसार मे पानी पोहचाने का काम करती हु । तुम सभी बच्चे की बात सुनी इस लीये मुझे आना पडा ।
 
बच्चो मे इस नदी मे पानी भेजना चाहती हु लेकीन क्या करु सभी लोग नदी मे कचरे फेक रहे है । कुच लोग नदी मे डेम बना रहे है मुझे आगे आने ही नही दे रहे है मे क्या करु । कुच लोग तो नदी मे गंदा पानी छोड रहे है । सारे लोग मिलके नदी को प्रदुसित कर रहे है मेरा रास्ता रोक रहे है । मे इस नदी मे पानी लाना चाहती हु सभी को खेतो मे पानी देना चाहती हु सभी के कुवे मे पानी पोहचाना चाहती हु लेकीन मे क्या करु मेरा रास्ता आगेसे बंध कीया है इस लीये मे आगे नही आपा रही हु । 






 
बच्चे ने कहा हम नदी मे से सारा कचरा निकाल दे तो तुम्ह इस जगह पानी को आने देंगी ना । नदी माता ने कहा जिहा मेरे रास्ता साफ कर दोगे तब मे जरुर इस जगह आ जावुगी । नदी  माता की कही बात बच्चे लोगो को बहुत बुरी लगी और दुसरे दीन से सारे बच्चे नदी मे से कचरा निकाल ने के लीये पोहुच गये । एक दीन दो दीन इस तरके से साभी बच्चो का साथ देने को आते गाये और उस नदी मेसे सारा कचरा निकाल दीया गया । 

आगे की और जो डेम बांधा था उसे टोड दीया गया । कुच्छ कंपनी थी वो गंदा पानी छोड रही थी उसे माना कीया गया । इस पानी मे गंदा पानी मत भेजो । धिरे धिरे करके नदी मे साफ पानी आने लगा सभी खेतो मे पानी पोहुच गया । सभी कुवे खाली हुवे थे उस मे पानी भर गया । 

इसी तरहा बच्चे की मेहनत और सोच एक नदी को साफ सुथरा बना दीया । इसी तरंहा येसी कही नदी है जिस मे पानी नही आता है उस मे कचरे फेक ते है गंदा पानी भेजते हे। इन सभी को हमे रोकना है और नदी को आगे बडने देना है ।  जिन लोगो ने इस तरिके से काम कीया है वो हमे कोम्मेंट कर कर के बताये । 



Related Short Story :---

real life inspirational stories in india

real life inspirational stories of success

Inspirational short stories with moral lesson

inspirational stories with moral lessons

short motivational stories with moral


दोस्तो मुजे यकिन है कि real life inspirational stories आप को पसंदआयि होगि । यह angry river short story आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये और आपको कहनिया real life stories of inspiration लिखने खा पसंद हो तो real life inspirational short stories in hindi या the river short story ईमैल कर सकते हो  | real life inspirational stories in hindi


Real life inspiring stories PDF




                                                        



Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads