दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Summary of the story in hindi buddhi aur bal के बारे मे हमे यकिन है | आपको Bedtime story kids बहुत पसंद आयेगा । बुद्धि ही श्रेष्ठ बल है

Bedtime story short

बुद्धि ही बल है पर कहानी short story

यह कहानी है एक छोटे से गांव की वहा पर भिन्न भिन्न प्रकार के लोग रहते हैं अक्सर लोग अपने गांव में कुछ ना कुछ नया करते रहते हैं इस गांव में सब लोग समझदार थे लेकिन फिर भी लोग बुद्धि का इस्तेमाल करने में ना जाने क्यों पीछे रह जाते हैं बुद्धि से ज्यादा बल का उपयोग करते हैं 

इस गांव में एक छोटा सा घर था उसमें मोहन और उसकी पत्नी कलावती रहती थी उसके दो बेटी थी बड़ी बेटी शांति और छोटी बेटी कमला यह परिवार खेती करके अपना गुजारा चलाते थे छोटी बेटी बुद्धि का उपयोग करती है और बड़ी बेटी बल का उपयोग करती है वो अपना दिमाग काम चलाती हैं  

एक दिन मां ने दोनो लड़की से कहा बेटी त्यौहार रहा है तो घर की साफ सफाई करनी पड़ेगी तो बड़ी बेटी शांति कहती है मे एक रुमाल से सारे घर मे मिठ्ठी की सफाई कर दुंगी लेकिन कमला ने बडे समझदारी से काम कीया एक लकड़ी की मदद लि और उस मे रुमाल डाल दिया और पुरे घर मे जारे लगे थे वो हता दीये उसका काम आसानि से हो गया लेकिन उसकी बहेन शांती तो हाथ की मदद से काम कर रही थी वो बिचारी थक गई इसी तरह कमलाने शांति से कम समय मे घर का काम किया और ज्यादा काम किया




दोनो बेटी कि काबिलियत देखते हुवे उसके पिता ने समझदारी भारा एक काम उन दोनो को दिया उसके पिताजी अकेले ही कितना काम करते थे खेत में इसलिए उसने दोनों बेटी से कहा कि तुम मुझे खेत में पौधे को पानी सिच ने मे मेरी मदद करो। पानि नहीं दालेगे तो पौधे सुक जाएंगे   

तालाब में से पानी लाना था और तालाब 1 किलोमीटर दूर था उसमें से पानी लाना था दोनों बेटी सोच में पड़ गई शांति तो अपना दिमाग लगाती ही नहीं है इसलिए वह तो घर से 1 मटका लेके आई और तालाब की और चल पड़ी लेकिन वह 1 किलोमीटर पैडल चल कर थक गई लेकिन कमला ने अपने दिमाग का यानी बुद्धि से उसने तालाब के पास एक किनारा बनाया और पाइपलाइन करने लगी यह देख के शांति चौक उठी क्या कर रहि है थोदी हि देर मे पानि खेत मे जाने लगा धेरे धेरे करके सभी पौधे मे पानी सिच गया

उसके मां-बाप ने छोटी बेटी की समज्दार भारा कदम देखते हुवे खुश हो गये और कमला कि तारीफ कर ने लगे और शांति को समझाया कि इस जगह पर बल का प्रयोग नहीं होता है  इस जगह पे बुद्धि का प्रयोग होता है कम समय मे ज्यादा काम करना होता है तब बुद्धि का प्रयोग करना चाहिये ना कि बाल का शांती अपने पापा कि बात ध्यान से सुन रही थी बाद मे शांती ने पापा से कहा मे ज्याद नहि सोचति हु जल्दी से काम हो जाये इस लिये मे बल का उपयोग कर लेती हु

 

Moral stories  : जीवन में कभी घमंड नहीं करना चाहिए जो काम बुद्धि से किया जाता है वह काम बल से नहीं किया जाता है इसलिए बल और बुद्धि का प्रयोग सोच समझकर करना चाहिए




buddhi hi bal hai short story in hindi

एक दिन शांती और कमला गां के बगिचे मे आम तोड ने के लिये गये । लेकिन आम का पेड बहुत बडा था इस लिये वो दोनो से आम नहि तोड पाये । शांती बल का उपयोग करके आम को पथ्थर से मार ने लगी केलिन वो तोड नहि पाय । कमला उस पेड पे चदने लगी लेकिन बहुत बदा पेड था इस लिये वो भि आम तोड नहि पाई ।

वो दोनो आम तोड नहि पाये इस लिये वो दोनो अपने घर वापस लोट गये और मां से कहा कि हम दोनो से आम तुट नहि पाये। मां ने उन दोनो कि बात सुनके बाद कहा कि तुम दोनो ने केवल बल का उपयोग किया है ।

कल तुम दोनो जब आम तोड ने के लिये जावोगे तब एक बडी सी लकदी का उपयोग कर ना आम आसानि से तुट जायेगे। वो दोनो मां कि बात सुनके बुद्धि का उपयोग करके एक बडी सी लकदी को लेके गये और आम को तोड के ले आये ।

जिस जगह पे बल का उपयोग कीया जाता है वहा पे बल का उप्योग करना है । जिस जगह पे बुध्धि का उपयोग करना है उस जगह पे केवल बुद्धि का उपयोग करना है । 
 

Related Short Story :--

Story In Hindi Buddhi Aur Bal


दोस्तो मुजे यकिन है कि Summary of the story in hindi buddhi aur bal hai short आपको ये स्टोरी पसंद आयि होगि । यह buddhi bal आपको कोइ सुधार करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंत करके बाताये और आपको कहानिया budhi ki kahani लिखने का पसंद हो तो हमे Buddhi badi ya bal essay या Buddhi aur bal mein kya shreshth hai 5 line एमैल कर सक्ते हो| बुद्धि और बुद्धि की कहानी


Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads