ads

Bheem aur Rakshas story 

दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है Moral of bheem aur rakshas story in hindi के बारे मे हमे यकिन है | story in hindi writing बहुत पसंद आयेगा |

जब पांडव महाभारत काल मे वन मे छुपकर रहते थे तब पांडव वन मे जा रहे थे तब एक ब्राह्मण के घर के पास जा पहुचे ब्राह्मण के घर कुच दीन रहने लगे लेकिन एक दीन ब्राह्मण का परीवार दुखी देखते हुवे पांडवो को पता चला की वो सभी गांव के लोग एक राक्षस के कारण चिंतित है राक्षस ने ग़ांव के राजा के साथ मिल के समजोता किया है और हर दीन कुच खाना और एक आदमी को भोजन के लिये भेजे गा

हर दीन किसी ना कीसी परीवार से एक व्यक्ती भोजन के समान के साथ राक्षस के पास जाते है और आज हमारे परीवार को भोजन के साथ जाना है। सभी पांडवो उस ब्राह्मण के परीवार को दुखी देखते है तब भीम ने उस ब्राह्मण से कहा की चिंतीत मत होना आज तुम्हारे परीवार मे से आज भोजन के साथ मे जावू गा और उस राक्षको को मार डालूगा | 



भीम राक्षस के लिये भोजन लेके चल पडे भीम को जंगल मे वो राक्षस दिख गया भिम ने चतुराई से काम किया राक्षस के समने जो भोजन था वो खाने लगा राक्षस वो भिम को देख्ते हुवे बहुत गूस्से गया भिम और राक्षस के बिच मे युध्ध हुवा उस मे भिम ने राक्षस को मार दिया और भिम ने सारे गांव वालो को राक्षस के आतंक से बचाया

जब भिम गांव मे लोट रहे थे तब पांडव ग़ेट पे ही खडे हुवे थे भिम को कहा कि हमे यही से चला जाना चहिये क्यु की गांव वालो राक्षस को मार ने कि खुशी मे स्वागत करेगे हमे अब वहा पे नही जाना चहिये क्योकी हमे वनवास मिला है इस लिये हमे अपनी पहचान किसि को नही बतानी है |

 bheem aur bakasur yudh

दोस्तो मुजे यकिन है कि bheem aur rakshas story in hindi आप को पसंदआयि होगि यह story in hindi for kids आपको कोइ भुल करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंट करके बाताये औरआपको कहनिया bheem aur rakshas लिखने खा पसंद हो तो bhim and bakasur story या bheem aur rakshas ki kahani ईमैल कर सकते हो  | bheem aur rakshas ki ladai

 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads

Display ads