ads

Corruption Story With a Moral 

दोस्तो आज आपको यह बताने वाले है corruption story in Hindi के बारे मे हमे यकिन है | corruption story with a moral बहुत पसंद आयेगा । corruption story

corruption story


Short story on corruption in Hindi

एक गाव मे एक दिन रेस कि स्पर्धा का आयोजन किया गया था । दुर दुर से बडे – बडे खेलादी आये हुवे थे । साभि खेलादी मे से एक खेलादी एसा था उसे हराना सब के बस कि बात नहि थि ।

मुखिया जि ने स्पर्धा शुरू होने से पहले बोले “ भाइयो इस बार जो विजेया हो गा इस को 3 लाख रुपये इनाम मे मिलेगे “

इनाम बदा था इस लिये सभि खेलादी जोश मे भर गए ओर रेस के लिये तैयार हो गये । रेस कि स्पर्धा शुरु हुई जो खेलादी था वो सभि को बारी-बारी से चित्त करता रहा । सभि खेलादी उस के सामने टीक ना पाये उसका आत्म विश्वास ओर भि बठ गया ओर उसने सभि लोगो को वहा पे मोजुद थे उसे भि चुनोति दे डालि कोई माईका लाल मे हे हिम्मत जो मेरे साम्ने खडे होके मेरा समना करे ।

वहा खाडा एक व्यकती उसे देखते हुवे बोलता है मे तुमहारा सामना करुगा ओर उस खेलादि के सामने खडा हो गया । सभि खेलादि उसे देख कर हसने लगे । वो खेलादी उस के पास मे जाके बोला तुम मेरा सामना करो गे तुम मेरे साथ रेस करो गे वो बोला जि हा मे रेस करुगा ।




वो खेलादि उसको देखते हुवे हस रहा था उसके पास जाता है  । वो दुसरा खेलादी चतुराई  से कुसके कान मे कहता हे मे आपके समने कहा टिक पाउगा, आप रेश हार जाव मे सारे पैसा आपको ईनाम मे दे दुगा ओर उस के साथ कुछ 3 लाख रुपये ओर दुगा , आप कल मेरे घर आकर ले जाना । सभि लोग आपको जानते है आप कितने महान हे एक बार हार ने से आप कि ख्याति कम नहि होगी ।

रेस शुरु होता है वो खेलादि कुछ देर रेस करता है ओर गिर जाता है । ओर फिर हार जाता है । उसे देखते हुवे सभि लोग उस कि खील्ली उडाने लगते है ओर घोर निंदा से उसे देख्ते हे ।

अगले दिन वह खेलादि शर्त के अनुसार उस के पास पैसा लेने के लिये उस के घर जाता है । ओर 6 लाख रुपये मांगता हे . तब वो व्यकती वोलता हे “ भाइ किस बात के पैसे”

वहि जो तुमने मैदान मे मुझे देने का वादा किया था । वो दुसरा खेलादी हसते हुवे कहता हे वहा मैदान कि बात थि , जहा तुम दाव – पेच लगा रहे थे ओर मेंने भि चतुराई दिखाइ ओर तुमहारा दाव-पेच तुम पर भारी पदा ओर मे जित गया ।

corruption define :- कहि दिन तक कि महेनत एक हि दिन मे चली जाति है लालच एक बुरि चिज हे उसे दुर रहे ।  सचाइ ओर महेनत से अगे बडे ।


corruption story with a moral

एक किशान की लडकी थी उसे पठने लिखने का बहुत सोख था । वो शहेर की स्कूल मे पठना चाहती थी उसे लगता था की गांव कि स्कूल मे वो आगे नही बड पायेगी । इस लीये वो शहेर की स्कूल मे पठाई करना चाहती थी । किशान के पास इतने पैसे नही थे वो शहेर की स्कूल मे अपनी लडकी को पठा सके । किशान ने अपनी लडकी को वादा कीया तुम्ह अच्छे नंबर से पास हो जाने के बाड मे तुम्हे एक बडी सी कोलेज मे डाखला दीलवावुगा ।
 
लडकी अब शहेर की स्कूल मे जाने का सपना देखना बंध कर दीया अब शहेर की कोलेज मे जाने का सपना देखने लगी ।  कुछ समय बित गया लडकी बहुत मेहन्त करके अच्छे नंबर से पास हो गई । अब कोलेज मे दाखला लेने के बारी आयी । लडकी को अच्छे नंबर आने के कारण आसानी से दाखला मिलने वाला था । लेकीन कुच लोगो ने दाखला करवाने के लीये पैसे मांगे । कोलेज की होस्टेल मे केवल एक जगह है जो पहले पैसे देंगे उसे दखला मिल जायेगा । तुम्ह अपनी लडकी को इस कोलेज मे पठाई करवाना चाहते हो तो इस कोलेज की होस्टेल मे पैसे जमा करवाना होगा तभी ये इस जगह रह पायेगी ।  

किशान सोच मे पड गया अपनी लडकी का सपना पुरा करने के लीये किशान ने खेत बेच दीया और कोलेज मे दाखला करवया । किशान हर दीन खेत मे काम करके पेट भरता था अब उसे दुसरे के खेत मे जाके काम करना पडता है । इस तरहा से 1 साल निकल गया । 

लडकी को दुसरे साल मे होस्टेल वालो ने फिस भरने को कहा । लडकी ने किशान से बात कीया पापा मेरी फिस भरनी हे मे क्या करु । किशान ने अपना घर बेच दीया और कोलेज की होस्टेल कि आधी फिस भरी । कुच समय मांग लीया फिस भरने के लीये । किशान दीन रात मेहनत करने लगा लेकीन वो समय सर पैसा जुता नही पाया ।






 
लडकी को होस्टेल की फिस नही भरने के कारण खाना नही दिया जता था । पिने को पानी नही दिया जता था । लडकी जैसे तैसे कुच दीन निकालती है । बहुत परेशन होने के कारण लडकी ने कोलेज की होस्टेल मे आत्महातीया कर लेती है । किशान को ये बात पता चहती है वो बहुत उदास हो ने लागा और कोलेज वालो पर बहुत गुस्से मे था । 

किशान अब अपनी बेटी को इसाफ दिलाने के लीये कोलेज के गेट पे बेथ ने लगा । दीन रात वहा बेथा रहता था कही दीन हो गये लेकीन किसी ने उस किशान पे ध्यान नही दीया । वो किशान एक ही जगह भुखे प्यासे बेथे रहने कारण वो भी इसी जगह मर जाता है । 

कोलेज कि इस बात को पता चलते ही सभी अखबार वाले और टीवी रीपोर्टर आ गये ।  देखते ही देखते ये बात कही लोगो मे फेल गई । आखीर कार कुच लालची कर्मचारी का नाम समने आया और उन्को कोलेज से निकाल दीया गया । आज किशान और उस की लडकी ने कही लोगो को पैसे भरने से और भ्राष्टाचारी से बचा लीया । 

हमारे देश मे आज भी कही जगह पे भ्राष्टाचारी देख ने को मिलता है । इसी भ्राष्टाचारी से कही लोग जान देने पर मजबूर हो जाते है । भ्राष्टाचारी से हमे बचना है और भ्राष्टाचारी का समना करना है ।  
 

Related Short Story:---

corruption definition

corruption synonym 

डोस्तो मुजे यकिन है कि Short story on corruption in Hindi आप को पसंदआयि होगि । यह about corruption essay आपको कोइ सुधार करने योगियाता लग्ता है तो हमे कोम्मेंत करके बाताये और आपको कहनिया corruption on essay लिखने खा पसंद हो तो हमे corruption essay या corruption terraria एमैल कर सकते हो corruption 

1 Comments

Post a Comment

Previous Post Next Post

Display ads

Display ads